डीपी विप्र में अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस कार्यक्रम संपन्न

बिलासपुर

डेस्क

बिलासपुर-स्थानीय डीपी पर महाविद्यालय में आज दिनांक 21 फरवरी 2020 को मातृभाषा दिवस का आयोजन रखा गया था। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रुप में महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर श्रीमती अंजू शुक्ला थे।वही हिंदी विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ के के शर्मा जी की अध्यक्षता में संपन्न हुआ ।कार्यक्रम का प्रारंभ मां सरस्वती के श्री चरणों में दीप प्रज्वलित कर सरस्वती वंदना एवं अतिथियों का स्वागत पुष्पगुच्छ द्वारा किया गया ।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ अंजू शुक्ला ने अपने उद्बबोधन में सभी महाविद्यालयों प्राध्यापक एवं कर्मचारियों को महाशिवरात्रि एवं विश्व मातृभाषा दिवस की बधाई देते हुए इसके महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि विश्व मातृभाषा दिवस 17 नवंबर 1999 को मनाने के लिए यूनेस्को ने स्वीकृति दी। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य विश्व में भाषाई एवं सांस्कृतिक विविधता और बहु भाषा को बढ़ावा देना है। सन 2008 को अंतरराष्ट्रीय भाषा दिवस भी मनाया जा चुका है। आजकल विश्व में 6000 भाषाएं लगभग बोली जाती है। इस वर्ष 19 में मातृभाषा की थीम है विकास शांति और संधि में देशज भाषाओं के मायने मातृभाषा हमारी अपनी पहचान है, जो हमारी संस्कृति सभ्यता एवं स्वार्थ को बनाए रखती है। कार्यक्रम का सफल संचालन छात्रसंघ प्रभारी डॉक्टर एम एस तंबोली ने किया ।कार्यक्रम के आभार प्रदर्शन डॉ आभा तिवारी के द्वारा किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए डॉ मनीष तिवारी, प्रोफेसर ए श्री राम, प्रोफ़ेसर जयंत राय ,प्रोफेसर विश्वास विक्टर, प्रोफेसर सुप्रजा पांडेय, प्रोफेसर रिचा हांडा ,प्रोफेसर प्रदीप जयसवाल, प्रोफ़ेसर उपेंद्र शर्मा ,प्रोफ़ेसर मयंक चंद्रा ,डॉक्टर सुरुचि मिश्रा ,प्रोफ़ेसर यूपीएस कुमार, असर चंद्रवंशी, श्रीमती उपासना पांडेय, सहित महाविद्यालय के प्राध्यापक गण कर्मचारी गण छात्र-छात्राएं एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के छात्र उपस्थित थे। उपरोक्त कार्यक्रम की जानकारी छात्रसंघ प्रभारी डॉ एम एस तंबोली ने दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.