शासकीयकरण की मांग के साथ पंचायत सचिवों का अनिश्चित कालीन आंदोलन शुरू।

तख़तपुर

ब्यूरो –

कई वर्षों से शासकीयकरण की मांग कर रहे पंचायत सचिवों ने शनिवार से ‘काम बंद कलम बन्द’ की घोषणा के साथ अनिश्चित कालीन आंदोलन की शुरु कर दिया।इसके पूर्व दिनाँक 21 दिसंबर व 24 दिसंबर को सांकेतिक धरना प्रदर्शन कर सरकार को दो दिन का अल्टीमेटम दिया था।लेकिन सरकार के द्वारा कोई ठोस पहल नही किये जाने से शनिवार से अनिश्चित कालीन आंदोलन पर चले गए।

पंचायत विभाग सहित कई विभागों के कार्य संपादित कर शासन की योजनाओं को धरातल पर कार्यान्वित कर हितग्रहियों तक पहुंचाने वाले पंचायत सचिव शनिवार से अपने शासकीयकरण की मांग के साथ अनिश्चित कालीन आंदोलन करने बैठ गए।शनिवार को तख़तपुर जनपद क्षेत्र के सभी पंचायत सचिवों ने आज काम बंद कलम बंद की घोषणा करते हुए जनपद कार्यालय के सामने अनिश्चित कालीन हड़ताल पर बैठ गए।वे अपने वर्षों से लंबित शासकीयकरण की मांग कर रहे है।उनका कहना है कि जब तक उनकी मांगे नही मानी जाती है आंदोलन खत्म नहीं होगा।इसके पूर्व दिनांक 14 दिसंबर को रायपुर में हुई प्रांतीय बैठक में एक दिवसीय धरने की योजना बनाकर शासन के सामने अपनी मांग रखने का निर्णय लिया गया।इस बीच16 से 18 दिसंबर तक अपने अपने क्षेत्रों के विधायको से समर्थन पत्र प्राप्त कर मुख्यमंत्री को भेजा गया।उसके बाद 21 दिसंबर को जिला व 24 दिसंबर को ब्लॉक स्तर पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया।साथ ही शासन को दो दिवस का अल्टीमेटम दिया गया था।अपनी मांगों पर शासन की ओर से कोई प्रतिक्रिया नही आने पर आज से अनिश्चित लेकिन धरने पर बैठ गए।सचिवों के आंदोलन पर चले जाने से पहले ही दिन से जनपद कार्यालय के साथ साथ पंचायतों के काम मे असर दिखाई देने लगा है।सचिव संघ के ब्लॉक अध्यक्ष के कहा कि हमारी मांगे वर्षों से अनदेखा किया जा रहा है, जबकि हमारे ही साथ काम करने वाले शिक्षाकर्मियों का शासकीय करण संविलियन कर लिया गया है ।हमें भी 2 वर्ष की परिवीक्षा अवधि के बाद शासकीयकरण करते हुए सातवें वेतनमान के लाभ सहित अन्य सभी भत्ते और सुविधाएं प्रदान की जानी चाहिए ।पंचायत सचिवों के द्वारा 29 विभागों के 200 से भी अधिक काम निपटाए जाते हैं। शासन की सभी योजनाओं को कार्य रूप में परिणत कर उसके लाभ हितग्राही तक पहुंचाए जाते हैं। किंतु इतना सब करने के बाद भी शासन का उपेक्षा पूर्ण रवैया ठीक नहीं है। शासन को हमारी मांगों पर सहानुभूति पूर्वक निर्णय लेते हुए शासकीयकरण करना चाहिए। आज के इस धरना प्रदर्शन में आर एल सिंगरौल अध्यक्ष पंचायत सचिव संघ ब्लॉक तखतपुर ,कृष्ण कुमार कौशिक सचिव पंचायत सचिव संघ तखतपुर,हरप्रसाद भास्कर ,धर्मेंद्र पटेल, मनमोहन टंडन, बृजेश साहू, सुखनंदन सिंगरौल, ध्रुव कुमार कश्यप, शिव कुमार कश्यप, राधे लाल चतुर्वेदी,अशोक कौशिक, राजकुमार खुटियारे, टाइम लाल कौशिक, संतोष कौशिक, राजकुमार सेंगर, ईश्वर सिंह क्षत्रिय, सुरेश मिश्रा, मनहरण सिंह ध्रुव, अनवर अली, मोहन कौशिक,अशोक कौशिक, ध्रुव कुमार कश्यप, अक्षय श्रीवास सहित बड़ी संख्या में पंचायत सचिव उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.