अकेलेपन और बीमारी से परेशान व्यक्तियों ने लगाई फांसी!

तख़तपुर

ब्यूरो – तख़तपुर थाना क्षेत्र में आज दो व्यक्तियों ने फांसी लगाकर अपनी इहलीला समाप्त कर लिया।पहला मामला कोटा जनपद अंतर्गत मटसगरा का है।जबकि दूसरा मामला तख़तपुर जनपद के अंतर्गत ग्राम धवईहा का है।पहला पत्नी गुजरने के बाद अकेलेपन से जूझ रहा था तो दूसरा बीमारी से परेशान था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कोटा जनपद अंतर्गत ग्राम मटसगरा निवासी अशोक पिता नकछेद साहू उम्र 48 वर्ष ने थाने में सूचना दिया कि गाँव के ही ईश्वर साहू पिता महेत्तर साहू उम्र 32 वर्ष निवासी मटसगरा ने अपने घर के पास ही खेत मे लगे बबूल के पेड़ पर फांसी लगा लिया है।मर्ग की सूचना पर पहुँची पुलिस ने लाश को पेड़ से उतरवाकर पंचनामा किया और पोस्टमॉर्टेम केलिए भेज दिया।पूछताछ में पता चला कि मृतक किनपत्नीनक कुछ वर्ष पूर्व हो गया था 5 वर्ष की एक बच्ची अपने मामा के यहाँ राह रही है।गाँव में मृतक ईश्वर और उसके 75 वर्षीय बुजुर्ग पिता साथ रहते है।कल मृतक अपने खेत से धान लेकर आया और बाहर निकल गया,फिर रात भर वापस नही आया।सुबह उसकी लाश मृतक के घर के पास की ही जमीन में लगे बबूल पेड़ पर फांसी से लटका हुआ मिला।लोगो का कहना है कि वह पत्नी के मरने के बाद अकेलेपन से जूझ रहा था।शायद इसी कारण फांसी लगा ली हो ।फिर भी पुलिस तफ्तीश कर रही है वास्तविक कारण साम्न आना बाकी है।

एक अन्य मामले में तख़तपुर जनपद के ग्राम धवईहा में एक 53 वर्षीय अधेड़ ने गौठान के पास बरगद पेड़ पर गमछे से फांसी लगा लिया।सुबह 8 बजेंके आस पास धवईहा निवासी बिसाहू कश्यप पिता दरस 62 वर्ष ने थाने में सूचना दी कि उसके भाई ने फांसी लगा ली है।पुलिस ने मौके पर जाकर लाश का पंचनामा तैयार कर पोस्टमॉर्टेम के लिए भेज दिया ।पूछताछ में पता चला कि मृतक शशि कश्यप पिता दरस कश्यप उम्र 53 वर्ष शराब पीने का आदि था।इसके कारण उसका लीवर खराब हो गया था ।इलाज कराने पर भी ठीक नही हो रहा था।इससे परेशान होकर मृतक ने सुबह 5 बजे के आस पास गौठान के बरगद पेड़ की टहनी में गमछे से फांसी लगा ली।इसकी सूचना मृतक के बेटे ने प्रार्थी को दी।पुलिस ने दोनो मामलों में मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.