मंत्री जी के बिगड़े बोल पर हर्षिता पांडेय ने की माफी मांगने की मांग

बिलासपुर

ब्यूरो –

बलरामपुर के वाड्रफनगर में एक लड़की के साथ हुए अनाचार के मामले में छत्तीसगढ़ शासन के नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया ने आज एक विवादित बयान दे दिया।बलरामपुर में हुई घटना को छोटी बताते हुए विरोधियों को एक मुद्दा दे दिया।इससे हाथरस पर काँग्रेस द्वारा चलाये जाने वाले आंदोलनों पर सरकार बैकफुट में नजर आए।वही मंत्री जी के इस बयान को लेकर राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष हर्षिता पांडेय ने मंत्री जी को प्रदेश की जनता से माफी मांगने की मांग कर डाली।

छत्तीसगढ़ शासन के नगरीय प्रशासन मंत्री ने पूर्व मुख्य मंत्री डॉ रमन सिंह को आड़े हाथ लेने के चक्कर मे उल्टे भाजपा को एक मुद्दा दे दिया।उन्होंने बलरामपुर बलात्कार की घटना पर डॉ रमन सिंह द्वारा किये ट्वीट पर किये प्रश्न का जवाब देते हुए एक प्रेस कांफ्रेंस में छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले में एक लड़की के साथ हुए अनाचार की घटना को छोटी मोटी घटना बात दिया।उन्होंने कहा कि हाथरस में हुई घटना बड़ी है रमन सिंह और बीजेपी के नेता उस पर कुछ क्यो नही बोलते। रमन सिंह हाथरस की घटना पर ट्वीट क्यों नही करते।छत्तीसगढ़ के बलरामपुर के यदि कोई छोटी घटना हो गयी तो उसे लेकर सरकार को बदनाम करने की साजिश करेंगे। मंत्री जी के इसी बयान को लेकर छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष हर्षिता पांडेय ने उनसे प्रदेश की जनता से माफी मांगने की मांग कर डाली। उन्होंने कहा कि हर्षिता पाण्डेय ने कहा कि छत्तीसगढ़ के मंत्री राजनीतिक एजेंडा के तहत इतने संवेदनहीन हो गए हैं कि बलात्कार जैसी घटना में भेद कर उसे छोटा और बड़ा बता रहे है। मंत्री शिव डहरिया का वाड्रफ नगर बलात्कार की घटना को छोटा और हाथरस की घटना को बड़ा बताया जाना निंदनीय है। उनके राष्ट्रीय नेता श्री राहुल गांधी और प्रियंका गाँधी इस घटना पर मौन हैं. श्री डहरिया के इस बयान से छत्तीसगढ़ की बहिन आहत हुई है। उनको अपने बयान के लिए इस प्रदेश की बहिनों बेटियों से माफी मांगनी चाहिए। देश की हर महिला की सम्मन किया जाना चाहिए और उस पर हुए अत्याचार को एक नज़रिए से देखा जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.