शकुंतला फाउंडेशन के सदस्य कर रहे कोरोना काल मे वॉरियर का काम

बिलासपुर

ब्यूरो- कोरोना महामारी से लोगों को बचाने के लिए शासन प्रशासन स्तर से तो प्रयास किए ही जा रहें हैं, इसके साथ ही समाजसेवी संस्थाओं और सेवा भाव की विचारधारा रखने वाले लोगों का भी इसमें बड़ा योगदान है। इसी तरह की विचारधारा के साथ सिर्फ रायपुर ही नहीं बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ और भारत के अन्य शहरों में कोरोना संक्रमितों की मदद के लिए काम कर रही हैं शकुंतला फाउंडेशन की संचालक स्मिता सिंह।


स्मिता ने जहां लॉकडाउन की शुरूआत में एक महीने तक हर दिन 400 पैकेट खाना प्रवासी मजदूरों को बांटा, तो वहीं राज्य के अलग-अलग जिलों के गरीबों का निशुल्क इलाज भी करवा रही हैं। वर्तमान में स्मिता व उनकी टीम हर दिन कोरोना योद्धा की टीशर्ट पहनकर वाहनों व प्रमुख चौक चौराहों पर कोरोना जागरूकता से संबंधित पोस्टर चस्पा कर रही है और लोगों को मास्क वितरित करके उन्हें इसके प्रति जागरूक भी कर रही हैं।
शकुंतला फाउंडेशन छत्तीसगढ़ की संचालक स्मिता सिंह ने बताया कि वर्तमान में वह रायपुर जिला प्रशासन के साथ मिलकर कोरोना महामारी का संक्रमण रोकने के लिए जागरुकता अभियान चला रही हैं । जिसमें वह अपनी टीम के साथ सार्वजनिक स्थलों बाजारों में जाकर मास्क पहनिए और दो गज दूरी का पालन कीजिए जैसे बातें बताकर लोगों को कोरोना कोविड-19 के संक्रमण से बचाने के लिए जागरूक कर रही हैं। इसके साथ ही वहां जरूरतमंदों को मास्क और सेनिटाइजर भी वितरित किया जा रहा है। वह गांवों में भी लगातार जाकर जागरूकता अभियान चला रही हैं। इस अभियान में स्मिता के साथ संजना सिंह , पुष्पा शर्मा, मनीषा निषाद, कीर्ति सुमन, ऐमन और अनीता साहू जैसी समाजसेविका कंधे से कंधा मिलाकर कार्य कर रही हैं।
राज्य भर से गरीब बच्चों को राजधानी लाकर करा रही हैं उपचार
स्मिता सिंह का कहना है कि उनका मुख्य कार्य गरीब छोटे बच्चों की गंभीर बीमारी का इलाज करना है। इससे पहले भी उन्होंने कई बच्चों के हार्ट और अन्य गंभीर बीमारी का इलाज रायपुर के अस्पतालों की मदद से करवाया है। कोरोना काल में भी स्मिता ने रायगढ़, जशपुर और बलौद से हार्ट पेशेंट को लाकर इलाज करा रही हैं। उन्होंने बताया कि जशपुर के कांसाबेल निवासी 4 वर्षीय बच्ची अर्चना ठाकुर का हार्ट का इलाज वह करवा रही हैं। 10 अक्टूबर को सत्यसाईं में उसके हार्ट के ऑपरेशन डेट भी उन्होंने ली हुई है।
हर मदद के लिए तत्पर
स्मिता यूं तो हर गरीब की मदद के लिए तत्पर रहती हैं। उन्होंने बल्ड कैंसर पीड़ितों की मदद के लिए अपनी टीम के माध्यम से कोरोना के समय में भी 50 यूनिट ब्लड का सुरक्षित रक्तदान करवाया है। इसके साथ ही अभनपुर के सांकरा में गंभीर बीमारी से गृसित दिव्यांग पिंटू यादव को ट्राईसाइकल दे रही हैं तो वहीं उन्हें एक माह की दवा उपलब्ध करवाई है।
इन वचनों का करें पालन
वचनों का पालन कर कोरोना संक्रमण की करें रोकथाम- सतर्कता कोरोना से बचाव का बेहतर उपाय है। इसके लिए विशेष सावधानी एवं सतर्कता जरुरी है जैसे- मास्क लगाने व 2 गज की शारीरिक दूरी बनाए रखें, सार्वजनिक स्थल हो, किसी ऑफिस के कमरे में अन्य व्यक्तियों के साथ हों या फिर सर्दी, जुकाम हो तो बाहर निकलने से पहले मास्क जरूर लगाएं, छींकते या खांसने समय रूमाल या टिश्यू पेपर का इस्तेमाल करें, बहुत अधिक इस्तेमाल होने वाली सतहों दरवाजे के हैंडल, या ऐसी जगहों का नियमित सफाई जरूरी है, सार्वजनिक या खुले स्थानों पर नहीं थूकें, ऐसा करना दंडनीय अपराध है, बहुत जरूरी हो तभी यात्रा करें, कोवि़ड- 19 संक्रमित या उसके परिवार वालों से भेदभाव नहीं करें सहानुभूति से पेश आएं, अपने स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग करने के लिए आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल करें, कोविड-19 को लेकर होने वाली चिंताएं या मानसिक दबाव के लिए 08046110007 फ्री हेल्पलाइन नंबर पर बात कर मनोचिकित्सक से सलाह आवश्यक लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.