कोरोना के कारण टाला निकाह,लिया जिम्मेदारी भरा निर्णय!

तखतपुर

संतोष ठाकुर

तखतपुर -कोरोना संक्रमण के कारण सभी प्रकार के सांस्कृतिक राजनीतिक और सामाजिक कार्य प्रतिबंधित किये जा चुके है।फिर भी कुछ लोग किसी तरह काम निपटा ही ले रहे है। लेकिन तखतपुर क्षेत्र के देवरीखुर्द के कुरैशी परिवार ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सेवाभाव, समर्पण और अपने सामाजिक दायित्व निर्वाहन करते हुए अपने विवाह (निक़ाह/वलीमा) की तारीख़ अगली तिथि तक टाल दी है।

कोरोना के कारण सामाजिक दायित्व से पहले देश की सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए कुरेशी परिवार ने अपने घर मे निश्चित हो चुके निकाह को आगामी तिथि तक के लिए ताल दिया है।यह निर्णय जितना सहज और सरल दिख रहा है उतना नही ही क्योंकि निकाह की सारी तैयारियां पूर्ण थी और कारडा भी बांटे जा चुके थे।उस स्थियी मे हुए सारे खर्च व्यर्थ चले गए ।आपको बता दें कि इरशाद क़ुरैशी के विवाह का कार्यक्रम 19 मार्च से प्रारंभ होकर 23 मार्च तक चलना था। नेवता/निमंत्रण पत्र बंट चुके थे। लगभग 2000 लोगों के साथ आशीर्वाद समारोह भी सम्पन्न होना था। घर मे हल्दी का कार्यक्रम प्रारंभ होने ही वाला था , वही रायपुर में लड़की पक्ष में भी हल्दी का कार्यक्रम संपन्न हो चुका था। मौजूदा स्थिति को देखते हुए देशहित व समाजहित में कुरैशी परिवार ने आगामी तिथि तक विवाह स्थागित कर दिया है। इस फैसले को लड़की पक्ष ने भी पूरा समर्थन दिया। ज्ञात हो कि कुरैशी परिवार शुरू से ही सामाजिक पृष्ठभूमि वाला परिवार रहा है और इरशाद कुरैशी सामाजिक संस्था मुश्ताक़ फाउंडेशन तथा कैरियर ज़ोन शैक्षणिक समिति में एक दशक से सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में सेवा दे रहे हैं। कुरैशी परिवार ने कोरोना के संक्रमण से अपने क्षेत्र को सुरक्षित रखने की अपनी ज़िम्मेदारियों को पहली प्राथमिकता दी और शादी की तारीख़ आगे बढ़ाने का निर्णय लिया। क़ुरैशी परिवार के श्री अशफ़ाक़ क़ुरैशी-टीटीआई रेलवे, अल्ताफ क़ुरैशी-कांग्रेस नेता, ईशहाक क़ुरैशी-पूर्व जनपद सदस्य, इरशाद क़ुरैशी के बड़े भाई के इस फ़ैसले ने समाज मे एक नया संदेश दिया है कि राष्ट्रहित एवं समाजहित, स्वयंहित से सर्वोपरि है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.