मुंगेली में रोजगार सहायकों ने किया आंदोलन का आग़ाज़।

मुंगेली

महेश कश्यप

छत्तीसगढ़ ग्राम रोजगार सहायक संघ के आह्वान पर प्रदेश के ग्राम रोजगार सहायक आज से अपनी 3 सूत्री मांगों को लेकर आंदोलन पर चले गए। शासन के सामने अपनी मांगों को रखते हुए धैर्य खो चुके रोजगार सहायक अब शासन को अपनी महत्ता दिखाने के इरादे से आंदोलन पर उतर आए हैं।

ग्रामीण विकास की कमान संभालने वाले सचिव और रोजगार सहायक आंदोलन शुरू कर चुके हैं। 26 दिसंबर से ग्राम सचिव जहां अपनी 1 सूत्रीय शासकीयकरण की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं ।वही आज छत्तीसगढ़ रोजगार सहायक संघ के आह्वान पर प्रदेश के रोजगार सहायक आंदोलन पर बैठ गए ।मुंगेली जनपद क्षेत्र में भी रोजगार सहायक जनपद कार्यालय के सामने धरना देकर रोजगार सहायकों ने अपनी 3 सूत्री मांग की ओर शासन का ध्यान आकृष्ट कराया।रोजगार सहायक नियमितीकरण व ग्रेड पे निर्धारण ,नगर निगम या नगर पंचायत में शामिल किए गए ग्राम पंचायतों के रोजगार सहायकों को नगर निगम या नगर पंचायत में नियमित सेवा में रखा जाना, ग्राम रोजगार सहायकों को सचिव के रिक्त पद पर वरीयता के आधार पर सीधी भर्ती में लिया जाना ,रोजगार सहायकों को सहायक सचिव घोषित किया जाना जैसे मांग लेकर शासन के सामने कई बार आवेदन और ज्ञापन दे चुके हैं। साथ ही रायपुर और ब्लॉक स्तर पर सांकेतिक धरना प्रदर्शन भी किया। किंतु सरकार ने उनकी मांगों को नजरअंदाज करते हुए कोई निर्णय नहीं लिया। इससे दुखी होकर धैर्य खो चुके रोजगार सहायकों ने आज से आंदोलन शुरू कर दिया। उनके आंदोलन पर चले जाने से ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के प्रमुख साधन मनरेगा के काम बुरी तरह से प्रभावित होंगे, क्योंकि रोजगार सहायक ही हैं जो मनरेगा का सारा काम देखते हैं ।रोजगार सहायकों के आंदोलन के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में गरीब मजदूर वर्गों के आय का साधन रुकने और आर्थिक तंगी आने की पूरी संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.