पी एम नरेंद्र मोदी कल सुबह 10 बजे देश को करेंगे संबोधित

बिलासपुर

ब्यूरो- प्राधनमंत्री नरेंद्र मोदी कल मंगलवार को सुबह 10 बजे देश को संबोधित करेंगे।इसमे लॉक डाउन को आगे बढ़ने की घोषणा कर सकते है।यह चौथा मौका होगा जब कोरोना को लेकर पीएम देश की जनता के बीच बात रखेंगे।इसकी जानकारी पीएमओ ने ट्वीटर पर दी है।

प्रधाममंत्री नरेंद्र मोदी 14 अप्रैल को देश की जनता को संबोधित करेंगे।पीएमओ द्वारा जारी ट्वीट में कहा गया है कि पीएम 14 अप्रैल 2020 को सुबह 10 बजे देश को संबोधित करेंगे।कोरोना लॉक डाउन में यह चौथा अवसर होगा जब पीएम देश को संबोधित करेंगे।14 अप्रैल को 21 दिन के लॉक डाउन की अवधि समाप्त हो रही है ।इसी विषय को लेकर मोदी जनता को संबोधित करेंगे इसमे लॉक डाउन की अवधि को आगे 15 दिनों के लिए बढ़ाने की घोषणा कर सकते है।11 अप्रैल को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुखियाओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर मोदी ने चर्चा की थी ।इस मीटिंग में अधिकांश राज्यो के मुख्यमंत्री लॉक डाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ाने के पक्ष में थे।प्राधनमंत्री का कल का उद्बोधन महात्त्वपूर्व रहेगा क्योंकि इसमें लॉक डाउन को किन शर्तो और छूट के साथ आगे कितनी अवधि तक बढ़ाया जा रहा है इसकी घोषणा होगी।ऐसी ख़बर्रे आ रही है कि लॉक डाउन 2.0 में देश को अलग अलग रंगों के जोन में बांटा जयेगा।और उसी के हिसाब से लॉक डाउन पीरियड में सेवाओ और सुविधाओं को छूट दी जायेगी।

रेड जोन में कोरोना हॉट-स्पॉट वाले स्थान शामिल किए जायँगे जहाँ लॉक डाउन की अवधि में किसी प्रकार की कोई भी ढील नही दी जाएगी।ऑरेंज जोन में उन स्थानों को शामिल किया जाएगा जहां पूर्व में कोरोना के मामले रहे है और अब मामलों में कोई भी बढ़ोत्तरी नही हो रही है।ऐसे स्थानों में कुछ राहत दी जा सकती है।ग्रीन जोन में ऐसे स्थान शामिल रहेंगे जहां कोरोना के मरीज नही मिले है।ग्रीन जोन में आने वाले स्थानों में छोटे मोटे उद्योगों को आरंभ करने की छूट मिल सकेगी।लेकिन सभी राज्यो की सीमाएँ सील रहेंगी।

छत्तीसगढ़ के हिसाब से देखें तो कटघोरा को छोड़ कर अधिकांश स्थान ग्रीन जोन में शामिल किए जा सकते हैं।कटघोरा रेड जोन में शामिल किया जा सकता है।जबकि रायपुर, दुर्ग, भिलाई, राजनांदगांव, ऑरेंज जोन में आ सकते हैं। लॉक डाउन में छूट पाने वाली सेवाओ और सुविधाओं का निर्णय राज्य सरकार पर छोड़ा जा सकता है।वैसे जिस तरह छत्तीसगढ़ में कोरोना को मैनेज किया गया है ज्यादातर क्षेत्र ग्रीन जोन में शामिल रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.