जेसीसीजे के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता की बोलेरो पर चलाई गई गोली या टकराया कोई पत्थर? पुलिस क्यों नहीं कर रही जाँच?

बिलासपुर

ब्यूरो

जनता कांग्रेस जोगी के पूर्व प्रवक्ता और आज़ाद युवा मंच के नेता का बोलेरो सकरी के पास क्षतिग्रस्त हो गया।उसके सामने की कांच पूरी तरह टूट गई है।नेता ने अपने ऊपर हमले की आशंका जताते हुए सकरी थाने में शिकायत आवेदन दिया है।आशंका जताई है कि शायद किसी ने गोली चलाई है।वही पुलिस ने गोलीबारी की घटना से इन्कार किया है और इसे महज दुर्घटना मान रही है।

जेसीसीजे के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता और आज़ाद युवा मंच के नेता विक्रांत तिवारी ने अपने ऊपर जान लेवा हमले की आशंका जताते हुए सकरी थाने में लिखित शिकायत आवेदन दिया है।अपने आवेदन में विक्रांत तिवारी ने बताया है कि 26 जुलाई की दोपहर 12:30 बजे के आसपास बिलासपुर से सकरी जाते हुए एक कार शो रूम के आगे पहुंचा था ,तो उसके ऊपर हमला हुआ है। इससे उसकी बोलेरो क्रमांक एमपी 13 सीबी 2127 के सामने का कांच पूरी तरह से क्रेक हो गया और कांच के बीच में एक छेद हो गया जो।विक्रांत तिवारी सुबह 12:10 के आसपास अपनी बोलेरो से अकेले किसी काम से सकरी की ओर जा रहा था। जैन इंटरनेशनल स्कूल के आगे फोर्ड शोरूम के पास गाड़ी जब 40 से 50 की स्पीड में थी ।तब अचानक एक जोर की आवाज आई । इसके बाद गाड़ी को रुकते रुकते बोलेरो के सामने पूरा कांच क्रैक होकर के टूटने लगा।

विक्रांत ने गाड़ी को सड़क किनारे रोका। उसे लगा की गाड़ी में किसी ने कुछ मारा था या गोली चलाई थी। गाड़ी के अंदर से बाहर कुछ भी साफ नहीं दिख रहा था। 2 मिनट बाद विक्रांत बाहर निकला वहां आस पास कोई नही था।आवाज के पहले भी विक्रांत की गाड़ी के सामने 50 मीटर तक कोई गाड़ी नहीं थी और उस स्थान पर कहीं कोई गिट्टी या पत्थर का ढेर भी नहीं था। इसलिए कुछ समझ पाना मुश्किल हो रहा था कि ड्राइवर के बगल वाली सीट की तरफ कांच पर बीचोंबीच एक छेद भी आर पार दिख रहा है।उसे गोली चलाये जाने की आशंका इसलिए हुई क्योंकि बोलेरो का कांच आसानी से टूटता नहीं है और न ही भारी चीज से भी पूरा क्रैक होता है।ऐसे मजबूत कांच में आरपार छेद होना हमले की आशंका को जन्म देता है । विक्रांत तिवारी ने यह आशंका जताते हुए बताया कि वह समाज सेवी संस्था आजाद युवा मंच छत्तीसगढ़ का प्रमुख कार्य करता है और पूर्व में जोगी कांग्रेस का बिलासपुर जिला अध्यक्ष एवं प्रदेश प्रवक्ता रहा है । पूर्व में कई जनहित के मुद्दों को उठाने के कारण वह माफियाओं और असामाजिक तत्वों के निशाने पर भी रहा है ।अवैध रेत उत्खनन से लेकर तमाम जनहित के मुद्दों पर उस ने जनहित के आंदोलन किए हैं, जिसके कारण उसके दुश्मनों की कोई कमी नहीं है। पूर्व में 2017 में भी विक्रांत पर एक बिल्डर के विरुद्ध मामला। उठाने पर जानलेवा हमला हुआ था ।जिसकी कार्यवाही न्यायालय में आरोपियों पर चल रही है। इसके बाद भी विक्रांत को जान से मारने की सार्वजनिक धमकी भी दी गई थी। इस सब कारणों के चलते घटना की शिकायत सकरी थाने में दर्ज कर जांच करने की मांग की है।ताकि अगर इसमें विक्रांत को मारने की कोशिश की गई है तो आरोपियों को तत्काल पकड़ा जा सके ।

पुलिस ने नही की गाड़ी की जांच -विक्रांत

विक्रांत ने बताया कि मैं जनहित के मुद्दों को उठाता रहता हूँ।इसके कारण कई लोगो को दिक्कत होती है।मिझे कई बार थ्रेट भी किया गया है।2017 में मुझ पर हमला हुआ जिस प्रकरण में 5 लोगो न्ययालय मामला में चल रहा है।सीपत एनटीपीसी, रेत घाट जैसे मुद्दे उठाते रहा हूँ।इसलिए मुझ पर हमले की आशंका बनी रहती है।घटना की शिकायत सकरी थाने में किया हूँ लेकिन न तो उन्होंने मेरी गाड़ी की जांच की और न ही मेरे आवेदन पर कोई कार्यवाही की है।मैं पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर से भी मिला ।उन्हें भी सारी जानकारी दी उन्होंने आश्वासन दिया मगर गाड़ी की जाँच नही कराई।मैं भी इंजीनियर हूँ और मेरी गाड़ी के मेकैनिक ने बताया की पत्थर से कांच ऐसे नही टूटता है,जैसे टूटा है।जब कोई चीज बहुत तेज गति से काँच से टकराये तब ही आर पार होता है और पूरी कांच क्रैक हो जाये।इसलिए गोली चलने की संभावना से इनकार नही किया जा सकता है।मैं बस इतना चाहता हूँ कि पुलिस जाँच करके सच्चाई का पता लगाएं ।

पुलिस का कहना है

वही सकरी प्रभारी पी के पुर्रे ने बताया कि गोली चलने की घटना नही हुई है।शायद किसी चीज से कांच टूटा हो। यदि गोली चली होती तो कांच के आस पास कार्बन ऐश मिलता ।गोली गाड़ी के अंदर कही न कही मिलती ।लेकिन गाड़ी में ऐसा कोई भी निशान नही मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.