‘कलम रख मशाल उठा’ व्याख्याता शामिल हुआ कर्मचारियों के आंदोलन के आगाज़ में।

बिलासपुर

ब्यूरो – अपनी 14 सूत्रीय मांगों कोलेकर छत्तीसगढ़ अधिकारी कर्मचारी फेडरेशन ने आंदोलन की शुरुआत कर दी है।’कलम रकह मशाल उठा’में छग व्याख्याता संग भी शामिल हुआ।

छत्तीसगढ़ अधिकारी कर्मचारी फेडरेशन के आह्वान पर छत्तीसगढ़ व्याख्याता संघ कलम रख मशाल उठा आंदोलन मे सभी जिलों से ब्याख्याता संघ शामिल हुआ। संघ के प्रवक्ता जितेंद्र शुक्ला ने बताया कि रायपुर जिले में छत्तीसगढ़ ब्याख्याता संघ के प्रदेश अध्यक्ष राकेश शर्मा, महामंत्री राजीव वर्मा एवं रायपुर जिला अध्यक्ष अरुण साहू के नेतृत्व में आंदोलन में शामिल हुए। प्रदेश अध्यक्ष राकेश शर्मा ने कहा कि कर्मचारियों को उम्मीद था कि दीपावली या राज्य स्थापना दिवस पर सरकार उनकी 14 सूत्रीय मांगों पर जरूर निर्णय लेगी, पर ऐसा कुछ भी नहीं हुआ ।इसलिए प्रदेश के अधिकारी कर्मचारी आंदोलन करने को बाध्य हुए ,जिसकी शुरुआत एक दिसंबर को प्रदेश के कर्मचारियों अधिकारियों द्वारा कलम रख-मशाल उठा आंदोलन से शुरुआत हुई। इसमें मुख्य मंत्री के नाम कलेक्टर को चौदह सूत्रीय ज्ञापन दिया गया। महामंत्री राजीव वर्मा ने कहा कि विपरीत परिस्थितियों में भी कर्मचारी पूरे तन मन से अपनी सेवा देते रहे। लेकिन सरकार ने मांगों पर ध्यान नहीं दिया जिसके कारण आंदोलन करने पर कर्मचारी संगठन मजबूर हुआ। रायपुर धरना में छत्तीसगढ़ व्याख्याता संघ की दमदार उपस्थिति को देखते हुए फेडरेशन के सदस्यों ने व्याख्याता संघ के इस सहभा गीता के लिए उनका उत्साहवर्धन किया । आंदोलन के दूसरे चरण में 11 दिसंबर को 28 जिलो में वादा निभाओ रैली एवं 19 दिसंबर को राजधानी रायपुर में वादा निभाओ रैली मैं अपनी सहभागिता देंगे। आंदोलन में प्रदेश अध्यक्ष राकेश शर्मा रायपुर जिला अध्यक्ष अरूण साहू महामंत्री राजीव वर्मा गोवर्धन झा सुरेश अवस्थी के के शर्मा प्रह्लाद नागरिया टी आर वर्मा एन के श्रीवास पी एल सेन संगीता अनम सी के वर्मा अनिल वर्मा सहित अन्य शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.