क्वारंटाइन किये गए मजदूरों का रखा जा रहा विशेष ध्यान

मस्तूरी

सूरज सिंह – दुसरे राज्यो से आ रहे प्रवासी मजदूरों के कोरोना पॉजिटिव की थोक संख्या के बीच राहत की बात यह है कि इन मजदूरों को क्वारंटाइन सेंटरों में रखा गया है।यहाँ पर इनके खाने पीने और अन्य जरूरतों का ध्यान रखा जा रहा है।ग्राम गोडाडीह में भी शासकीय स्कूल को क्वारंटाइन सेंटर बनाया है।यहां ठहरे हुए मजदूरों ने हमारे प्रतिनिधि सूरज सिंह से व्यवस्था के बारे बात की।

मस्तुरी ग्राम पंचायत गोडाडीह में प्रवासी मजदूरों के लिए स्कूल को बनाया गया कोरेन्टीन सेंटर जिसमे स्कूल को चारों तरफ से घेरा गया है और 2-2 चौकीदार रखे गए है ,जो क्रमशः दो रात में और दो दिन में चौकीदारी करते हैं ।उनके लिए रसोइये की भी व्यवस्था की गई है।इनके द्वारा मजदूरों को खाना बना कर घेरा के बाहर से दे दिया जाता है, और फिर सब लोग आपस मे बाट कर खा लेते है। पंचायत के सरपंच प्रतिनिधि जगदीश्वर यादव ने बताया कि यहां महाराष्ट्र,गुजरात,उत्तरप्रदेश, रायपुर से टोटल 60 लोग आ गए है, और भी लोग अभी धीरे धीरे आ रहे है। इसके अलावा यह सभी पंचों को भी ग्राम पंचायत सरपंच के द्वारा हिदायत दिया गया है कि अपने अपने वार्ड में कोरोना से जुड़ी सारी जानकारी के साथ जागरूकता को एक अभियान की तरह लगातार चलाये ।सभी ग्राम पंचायत के पंच गण क्वारंटाइन सेंटर का भी ध्यान रखे।ताकि किसी तरह की कोई लापरवाही यहाँ न हो और जब भी समय मिले तो क्वारंटाइन सेंटर में जा कर बाहर से आये हुए हमारे भाई बहनों का हाल चाल जाने व उनको किसी प्रकार का समस्या न हो इस बात का पूरा ध्यान रखा जाय। शासन के नियमो का कड़ाई से पालन किया जाए व करवाया जाए यहाँ के सभी पंचायत प्रतिनिधि कोरोना को हल्के में नही लेना चाहते और इसीलिए दिन रात इसके लिए लगातार मेहनत कर रहे है और बाहर से आये लोगो का भी अपने परिवार की तरह देख भाल कर रहे है।

देखें वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published.