तेन्दुए ने किया तीन गायों का शिकार

किसानों में दहशत का माहौल

वन विभाग ने आवश्यक कार्यवाही प्रारंभ की

बेलगहना

रविराज रजक– जंगलों में मानव के बढ़ते हस्तक्षेप के कारण अब जंगली जानवर गांव और बस्तियों का रुख करने लगे हैं, और गांव में मवेशियों का शिकार करने लगे हैं। इससे ग्रामीणों में दहशत का माहौल व्याप्त हो रहा है। ताजा मामला बेलगहना के लुफा मार्ग के बांध के टेल एरिया का है,जहां पर तेंदुए ने अलग अलग करके तीन रातों में तीन गायों का शिकार कर शव को क्षत-विक्षत कर दिया है ।

जंगलों में अत्यधिक हस्तक्षेप और मौसम के कारण जंगल में चारा पानी की कमी का प्रभाव जंगल के किनारे बसे हुए ग्राम वासियों पर पड़ना शुरू हो गया है। ताजा मामले में बेलगहना लूूफ़ा मार्ग से लगे हुए बांध के टेल एरिया में बसे हुए किसानों की तीन गायों को मौका देखकर तेंदुए ने लगातार 3 रातों में एक एक गाय को अपना शिकार बनाया और जानवरों को क्षत-विक्षत हालत में छोड़ दिया। इंसानों की बस्ती के काफी करीब आकर तेंदुए के द्वारा किए गए इस हमले से ग्रामीण काफी दहशत में हैं।प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त तेंदुए को पिछले दो-तीन दिनों से इस क्षेत्र में लगातार देखा जा रहा है । इस घटना की जानकारी मवेशी मालिकों संदीप शुक्ला,अशोक गिरी एवं संतोष यादव द्वारा वन विभाग को दी गई ,जिसके उपरांत वन विभाग के कर्मचारियों द्वारा मौके पर पहुंचकर मुआवजे की कार्यवाही प्रारंभ की गई है। कोरोना वायरस के कारण चल रहे लाक डाउन के समय में किसानों के मवेशियों की क्षति दोहरे मार से कम नहीं है। बहरहाल वन विभाग द्वारा इस क्षेत्र में अब गस्त कर निगरानी की जा रही है । गौरतलब है कि इस क्षेत्र में बीते सप्ताह में चार बायसन भी देखे गए हैं,और आए दिन यहां कोटरी और खरगोश दिखाई पड़ते रहते हैं। जैसे-जैसे गर्मियों का मौसम करीब आते जाता है ।इन वन्य पशुओं की इस इलाके में चहलकदमी बढ़ती जाती है। इसकी वजह गर्मी में बांध में पानी की उपलब्धता एवं यहां प्रचुर मात्रा में हरी घास का पाया जाना है । वन विभाग को इन परिस्थितियों को देखते हुए इस क्षेत्र में गंभीरतापूर्वक कार्य योजना बनाकर इन वन्यजीवों के संरक्षण की दरकार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.